दक्षिण कोरिया में तूफान के बाद टला परमाणु विकिरण का खतरा, पर उत्तर कोरिया अब भी चिंतित

Uncategorized

सियोल: दक्षिण कोरिया (South Korea) के दक्षिणी और पूर्वी तटों से शक्तिशाल तूफान के टकराने के बाद बृहस्पतिवार को बेहद तेज हवाएं चलीं और भारी बारिश हुई. जिसके कारण 2 लाख 70 हजार से ज्यादा घरों में बिजली नहीं आ रही है. प्रकृति के इस कहर में अब तक कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है. तूफान की वजह से दक्षिण कोरिया के 2,400 से ज्यादा लोगों को घर से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया.

इस तरह टला सबसे बड़ा खतरा
दक्षिण कोरिया के गृह एवं सुरक्षा मंत्रालय ने बताया कि बुसान के निकट चार परमाणु संयंत्र बिजली आपूर्ति संबंधी दिक्कत के बाद अपनेआप बंद हो गए. हालांकि यहां रेडियोधर्मी कणों का रिसाव नहीं हुआ.

दक्षिण कोरिया की मौसम विज्ञान एजेंसी ने बताया कि यहां 126 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही हैं. तूफान ‘मयसक’ बृहस्पतिवार को सोकचो शहर के पूर्वी तट पर था और अब यह उत्तर कोरिया की तरफ बढ़ रहा है. ऐसी संभावना है कि यह तूफान कुछ घंटों में कमजोर होकर उष्णकटिबंधीय तूफान में बदल जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *