अल्लाह तेरा शुक्र – छुट्टी गए हुए गेर मूलकियो को घर बेठे मिलेगी सेलरी . हुकूमत ने बड़ा एलान कर दिया

Kuwait

अगर आप कुवैत में रहते है या फिर आप कुवैत से अपने मुल्क आये हुए है, यह बड़ी खुशखबरी आप के लिए है।

इस को-रो-ना महा-मा-री में बहुत बड़ी तादाद में प्रवासी कामगार फंस गए है , इस म-हा-मा-री में कुछ की नौकरिया चली गयी है तो कुछ की वीजा की तारिख भी ख़तम हो चुकी है।

सभी प्रवासी जो अपने मुल्क आये हुए है वो सभी कुवैत की वापसी के लिए उड़ाने खुलने का इंतजार कर रहे है , वंही उन्हें यह भी डर है की अगर उनका वीज़ा ख़तम हो गया तो उन्हें भरी जु-र-मा-ना भी देना पड़ सकता है।

ऐसे में प्रवासी कामगारों के लिए कुवैत सरकार से एक अच्छी खबर आयी है , कुवैती सिविल सेवा आयोग ने कहा है की की जो कर्मचारी यात्रा के प्रतिबंधों की वजह से फस गए है , ऐसे कामगारों को जरूरी काम की वजह से अनुपस्थित माना जाएगा और ऐसे लोग भुक्तान के लायक नहीं है।

आपको बता दे अगस्त महीने के शुरू में कुवैत सरकार ने स्वस्थीये सम्बन्धी चिंताओं का हवाल देते हुए 32 देशो की उड़ानों को बंद कर दिया था। जिन देशो में यह प्रतिबंध लगाया गया है इनमे से कुछ देशो के लोग बड़ी तादाद में कुवैत में रहते है।

कुवैती शिक्षा मंत्रालय के एक प्रश्न के जवाब में, सिविल सेवा आयोग ने कहा कि जो कर्मचारी 12 मार्च से पहले नियमित छुट्टियों पर देश छोड़ कर जा चुके है और उड़ान प्रतिबंध के कारण कुवैत लौटने में असमर्थ है उनके इस दौरान वापसी ना कर पाने के कारण उन्हें सेलरी सरकारी आदेश के मुताबिक़ ही दी जाएगी ।

वे कुवैती द्वारा घोषित अवकाश के पात्र हैं। नए को-रो-ना-वा-य-रस के प्रसार को रोकने के लिए उपायों के हिस्से के रूप में सरकार और इस तरह के रूप में सरकार द्वारा स्वीकृत छुट्टी के दौरान भुगतान किया जाना चाहिए।

कुवैत ने हाल ही में वा-य-रस से संबंधित प्रतिबंधों में ढील दी है, जिससे सरकारी कर्मचारी काम पर लौट सकते हैं जैसा कि अभी भी विदेश में फंसे शिक्षकों के लिए है, आयोग ने कहा कि वे फोन या किसी अन्य माध्यम से 15 दिनों के अवैतनिक अवकाश के लिए आवेदन कर सकते हैं।

अन्य क्षेत्रों के सरकारी कर्मचारियों की तरह, यदि वे किसी भी प्रकार की छुट्टी के लिए योग्गिये नहीं माना जाएगा , तो उन शिक्षकों को जरूरी काम कारण के लिए काम से अनुपस्थित माना जाएगा और भुगतान करने के योग्य नहीं होंगे आपको बता दे कुवैत में नया स्कूल वर्ष मंगल के रोज़ को शुरू हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *