भाई वाह- खुशखबरी-खुशखबरी,टिकट के पैसे लिए बिना गेर मूलकियो को भेजा जाएगा

Saudi news

पूरी दुनिया में को-रो-ना म-हा-मा-री की वजह से बहुत ही ज्यादा नुक्सान हुआ , जिससे यात्री सफर भी नहीं कर पाए और बहुत से अंतर्राष्ट्रीय यात्री दुसरे मुल्को में फस भी गए।

ऐसे ही अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों में 100 से ज्यादा यूगांडा के यात्री सऊदी अरब में फस गए जो सऊदी अरब में काम के सील सिले में आये हुए थे लेकिन को-रो-ना म-हा-मा-री की वजह से वो यात्रा नहीं कर पाए और सऊदी अरब में फस गए।

लेकिन एक संस्था इंटरनेशनल आर्गेनाईजेशन फॉर माइग्रेशन ( IOM ) ने सऊदी अरब की सरकार और यूगांडा की सरकार के साथ एक साझेदारी कर इन परवासियो को निकालने की जिम्मेदारी ली।

IOM रीजनल ऑफिस की मदद से जो नैरोबी में है , IOM का मकसद सभी फसे हुए युगांडा के यात्रियों के लिए था जो बेहरीन और सऊदी अरब में काम के सिल सिले में आए हुए थे , IOM ने यूगांडा के सभी यात्रियों को निकालने के लिए जो रियाध शहर में यूगांडा का दूतावास है वंहा से मदद मांगी , क्यूंकि 229 यूगांडा यात्री सऊदी अरब में फसे हुए थे जिनकी स्क्रीनिंग होनी थी , और उनकी पहचान भी होनी थी।

IOM की मदद से 113 परवासियो की एक सूचि बनायीं गयी , जिसमे उन परवासियो को यूगांडा जाने के लिए उनके पास कोई सोर्स ही नहीं था , और जबकि वो यूगांडा के यात्री को-रो-ना नेगेटिव भी आ गए थे।

लाखो यूगांडा के लोग बहार मुल्को में काम करते है , ज्यादा तर इनमे से गल्फ के मुल्को में काम करते है और इनमे से ज्यादा तर गल्फ के मुल्को में घरेलु नौकर , सिक्योरिटी गार्ड है जो यंहा अपने परिवार की अच्छी परवरिश कर सके इस लिए यंहा रहते है। लेकिन जो यह को-रो-ना म-हा-मा-री आए है इसकी वजह से इन पर सबसे ज्यादा फ़र्क़ पड़ा है।

जो यूगांडा के यात्री मंगल के रोज़ 15 सितम्बर को यूगांडा पहुंचे थे , इनका मेडिकल टेस्ट भी किया गया था। इनमे से कुछ यात्रियों ने कहा के उन्हें उनकी कई महीनो की नौकरी भी नहीं मिल पायी है , और यह को-रो-ना की वजह से हुआ।

लेकिन सऊदी सरकार ने इन सब यात्रियों की को-रो-ना PCR टेस्ट फ्री में किया , जितने भी यूगांडा के यात्री वापस यूगांडा लोटे उन सभी का टेस्ट मुफ्त में हुआ। आपको बता दे जितने भी कामगार लोग बहार मुल्को में काम कर रहे थे , उन सभी को इस म-हा-मा-री का बहुत बड़ा नुकसान हुआ है।

सऊदी अरब के , ह्यूमन राइट कमीशन ( HRC ) के अधियक्ष अव्वाद अल अव्वाद ने कहा की सऊदी अरब की हुकूमत से सभी जायज कदम लिए जाएंगे ख़ास तौर पर उनके लिए जो इस वबा का शिकार हो रहे है। सऊदी हुकूमत हमेशा सब का दर्द समझती है।

और हम आप को बता दे जितने भी यूगांडा के लोग सऊदी अरब में फंसे हुए थे , IOM की मदद से उन सभी को सऊदी अरब से निकाल लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *