भारत और पाकिस्तान के लोगों पर अरब ने लगा दिया है प्रतिबंध अब भारतीयों की ऐसे ENTRY नहीं

UAE

भारतीय और पाकिस्तानी कामगारों के लिए दुबई से बुरी खबर है अब भारतीय और पाकिस्तानी नागरिको को दुबई से चेतावनी दी गयी है की अब वो विजिट वीज़ा पर काम के सिलसिले में दुबई नहीं आ सकते है। यह फैसला तब लिया जब सेकड़ो जॉब चाहने वाले पाकिस्तानी और भारतीय नागरिको को एयरपोर्ट में एंट्री लेने से रोका गया।

दुबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर फसे यात्री और और विजिट वीज़ा पर नौकरी की तलाश करने आये हुए नागरिको के मुद्दे पर देशो की बात चल रही है। दुबई ने भारतीय और पाकिस्तानी मिशनों ने अपने देशो के नौकरी चाहने वाले नागरिको को इन वीज़ा पर दुबई आने के लिए परहेज बरतने को कहा है।

पाकिस्तानी कांसुलेट के मुताबिक दुबई में 1 हजार 374 पाकिस्तानी यात्रियों को दुबई में आने से रोक दिया गया था , जिनमे से 1 हजार 276 पाकिस्तानी यात्रियों को दुबई एयरपोर्ट से पाकितान भेज दिया गया था और 98 यात्रियों को एंट्री की इजाज़त मिल गयी थी। पाकिस्तानी कांसुलेट के प्रवक्ता ने कहा की जो बचे हुए यात्री है उन्हें अगले 12 घंटे में वापस पाकिस्तान भेज दिया जाएगा।

जबकि भारतीय कांसुलेट ने कहा की करीब 300 भारतीय नागरिको को दुबई अंतर्राष्ट्रीयए एयरपोर्ट पर ही रोक लिया गया था , जिनमे से 80 भारतीय नागरिको को ही एंट्री की इजाज़त मिली है। अभी तक 49 यात्री एयरपोर्ट पर ही फंसे हुए है उनको आज रात ही भारत वापस भेज दिया जाएगा उन्हें भेजने की देरी सिर्फ फ्लाइट्स की ही वजह से हुई है , क्यूंकि फ्लाइट्स में भीड़ बहुत ही जयादा है।

पाकिस्तानी कांसुलेट ने कहा की मिशन आपको सूचित करता है की अगर आप ” नौकरी की तलाश ” में दुबई आ आ रहे है और वो भी टूरिस्ट वीज़ा पर तो आपको ध्यान देना होगा की जब आप दुबई एयरपोर्ट पर आते है तो तो वंहा दो चेक पॉइंट होंगे जिनमे से एक “चेक- इन काउंटर होगा और दूसरा इमीग्रेशन काउंटर होगा। अगर वंहा कटर पर यह साफ़ हो जाता है की यात्री दुबई में नौकरी की तलाश में आया है तो उसे वापस भेज दिया जाएगा।

दुबई इमीग्रेशन ने यह साफ़ किया की अगर कोई भी यात्री विजिट वीज़ा पर नौकरी की तकश में आता है तो उसे एंट्री नहीं दी जाएगी , अगर कोई यात्री टूरिस्ट वीज़ा पर सफर करता है तो उसे वेध रेतुर्न टिकट दिखाना होगा , होटल बुकिंग दिखानी होगी और उसे पैसे भी दिखने होंगे।

भारतीय कॉन्सुलेट ने कहा की मिशन ने यह सुनिश्चित किया है की टूरिस्ट वीज़ा पर सिर्फ सही टूरिस्टर है आ सकते है। अगर आप एक पर्टिकुलर वीज़ा केटेगरी में है तो आपको यह साबित करना होगा की आप बोना फायड वीज़ा धारक है। देश ऐसे यात्रियों को बिलकुल भी नहीं लेगा जिनके पास सही डाक्यूमेंट्स ही नहीं है और जिन डाक्यूमेंट्स की जरूरत है उसने उन्हें पूरा न किया हो।

भारतीय कांसुलेट ने कहा की हम इमीग्रेशन अथॉरिटीज के रूल्स का सम्मान करते है , ऐसा कोई भी यात्री भारत से दुबई के लिए विजिट वीज़ा पर यात्रा नहीं करेगा जो नौकरी की तलाश में UAE जा रहा हो।

भारतीय कांसुलेट ने यह भी कहा की इंडियन ब्लू कॉलर कामगार को केवल “E – MIGRATION ” ऑनलाइन भर्ती पोर्टल के जरिये से ही भर्ती किया जाना चाहिए और कामगार ो सभी नियम कानून का पालन भी करना चाहिए। “हम अपने सभी साथी भारतीयों से कहते की वो सब प्रॉपर वीज़ा पर ही आये। अगर वो सही टूरिस्ट है तो उन्हें अपने खर्च को सँभालने के लिए साधन भी होना चाहिए , अगर कोई यात्री विजिट वीज़ा पर किसी और मकसद के लिए आ रहे है तो हम उनसे वीज़ा प्राप्त करने की रिक्वेस्ट करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *